राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए चयनित छात्रों को मिला सम्मान

बेतिया। गोदावरी देवी रामचंद्र प्रसाद सरस्वती विद्या मंदिर पुरानी बाजार, नरकटियागंज में गुरुवार को एक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इसमें झारखंड के धनबाद कतरास में आयोजित क्षेत्रीय ज्ञान विज्ञान मेला में अव्वल आए बच्चों को प्रतीक चिन्ह और प्रशस्ती पत्र से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ वंदना सत्र से हुआ। इसके बाद मुख्य अतिथि उपसभापति रत्नेश सर्राफ, प्रबंध समिति के अध्यक्ष दयानंद प्रसाद उर्फ मनई जी, मंत्री सुरेंद्र जायसवाल तथा संरक्षक बीए विश्वनाथ जी द्वारा दीप प्रज्वलित कर विधिवत कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। आयोजित सम्मान समारोह में अव्वल छात्रों के साथ उनके अभिभावकों को भी सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि उपसभापति रत्नेश सर्राफ ने कहा कि यहां बच्चों को संस्कार की शिक्षा के साथ साथ कई तरह के प्रतिस्पर्धात्मक शिक्षा भी दी जाती है। प्रधानाचार्य नागेंद्र कुमार तिवारी ने बताया कि हमारे यहां के भैया बहनों ने विभाग, प्रांत एवं क्षेत्र के विभिन्न प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करते हुए अखिल भारतीय प्रतियोगिता के लिए चयनित हुए हैं। इससे विद्यालय गौरवांवित हुआ है। उन्होंने इसका श्रेय अभिभावकों की सोच, बच्चों की मेहनत और गुरुजनों का कुशल मार्गदर्शन बताया। इस क्रम में क्षेत्रीय विज्ञान प्रदर्श में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विशु कुमार तथा सहायक कुमार गौतम, क्षेत्रीय संस्कृति ज्ञान प्रश्न मंच बाल वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले अमरेंद्र प्रताप ¨सह, अंकित पांडे, सोनू कुमार, क्षेत्रीय संस्कृति प्रश्न मंच किशोर वर्ग में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले अदिति वर्मा, सौम्यामणि भारद्वाज और अनामिका कुमारी, प्रांतीय विभाग कार्यशाला प्रश्न मंच प्रतियोगिता में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले दुर्गेश कुमार को समारोह में अतिथियों ने सम्मानित किया। इनके अलावा इन अव्वल छात्रों के अभिभावक विजय कुमार, केशव कुमार मिश्र, सुरेंद्र प्रताप ¨सह, शेषनाथ कुशवाहा, सुजीत कुमार पांडेय, सतीश कुमार वर्मा, नागमणि दिवेदी, सुजीत कुमार ¨सह, वीरेंद्र कुमार तथा संरक्षक आचार्य प्रेमचंद मिश्र, वीर शमशेर जी, मलय नीरव, सविता जी, स्मिता जी को भी सम्मानित किया गया। संरक्षक बीए विश्वनाथ जी के द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ। मौके पर आचार्य विनोद कुमार दुबे, श्याम बिहारी ¨सह, आनंद पराशर, सुरेश कुमार यादव, प्रभेष तिवारी, र¨वद्र दुबे, नीतेश कुमार वर्मा की आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका रही। बता दें कि 1952 से विद्या भारती का कार्यक्रम आरंभ हुआ। इसके अंतर्गत भैया और बहनों के सर्वांगीण विकास के लिए जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। इस बार यहां के कई भैया बहन राष्ट्रीय स्तर के प्रतियोगिता के लिए चयनित हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *